Sarkari Result 2023:
Latest Sarkari Results, Online Forms
jobs.asomlive.com

KCC Scheme –  किसानों की स्थिति सुधारने के लिए सरकार विभिन्न योजनाएं लागू करती है, जिसमें से एक है किसान क्रेडिट कार्ड योजना। यह योजना देश के किसानों के लिए प्राचीन है और इसके तहत सरकार किसानों को कृषि क्षेत्र में निवेश के लिए वित्त प्रदान करती है। वर्तमान में किसान क्रेडिट कार्ड पर कम ब्याज में ऋण प्रदान किया जा रहा है। इसके लाभ से, किसान को लोन लेने पर पैसा वापस करने में कम दबाव होता है और गरीब किसानों को अच्छी छूटें भी मिलती हैं।




इस योजना के अंतर्गत, भारत सरकार द्वारा किसानों को नाबार्ड (नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट) या अन्य बैंकों से ऋण प्रदान किया जाता है। अब किसान क्रेडिट कार्ड पर आपको कम ब्याज पर तत्काल ऋण प्राप्त करने का अवसर है जो किसी भी स्थानीय बैंक से हो सकता है। इस पृष्ठ का उपयोग करके आप किसी भी प्रकार की खेती में निवेश कर सकते हैं और यदि आपको चुकाने में कोई समस्या हो तो सरकार आपकी मदद के लिए उपलब्ध है।

किसान क्रेडिट कार्ड योजना | Kisan Credit Card

देश के गरीब किसानों की स्थिति में सुधार के लिए किसान क्रेडिट कार्ड योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना के अंतर्गत, किसान कम ब्याज पर खेती के लिए ऋण ले सकता है। वर्तमान में बिहार सरकार ने इस योजना को अपडेट किया है। बिहार के नागरिक खेती के लिए सिर्फ 3% ब्याज पर ऋण ले सकते हैं। यदि मौसम की वजह से किसान की फसल में कोई कमी होती है, तो सरकार लोन माफी लिस्ट में उनका नाम शामिल कर सकती है।




इस योजना के अंतर्गत किसी भी प्रकार की खेती करने के लिए सरकार पूरे पैसे प्रदान कर रही है जो बहुत ही कम ब्याज पर है। किसी भी निजी कंपनी या साहूकार के पास जाने की आवश्यकता नहीं है आप अपना किसान क्रेडिट कार्ड किसी भी स्थानीय बैंक से बनवा सकते हैं।

सभी किसानों के बैंक खाते में 6000 रुपये आने शुरू हो गए हैं।

किसान क्रेडिट कार्ड योजना केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई एक महत्वपूर्ण योजना है जिसके तहत किसानों को खेती के लिए सस्ती दरों पर ऋण प्रदान किया जाता है। इस योजना के तहत लोन पाने के लिए किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड बनवाना जरूरी है,

जिसका अभियान शुरू हो चुका है. किसान क्रेडिट कार्ड के तहत ₹300000 तक का लोन सस्ती दर पर दिया जाएगा और इसकी ब्याज दर 4% तक होगी।




आपकी जानकारी के लिए बता दें कि किसान क्रेडिट कार्ड योजना के तहत अगर समय पर लोन का भुगतान किया जाता है तो सरकार की ओर से तीन फीट तक की सब्सिडी भी दी जाती है और इस योजना के तहत 160000 रुपये तक का लोन बहुत आसानी से मिल जाता है, इसके लिए किसी कोलैटरल की जरूरत नहीं होती है।

बैंक उन्हें 14 नवंबर तक कार्ड देगा- लोन

जो लोग मछली पालन, खेती, पशुपालन आदि में अपना व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं, वे बैंक से केसीसी लोन ले सकते हैं या फिर एक प्रकार का टर्म लोन है।

जिसमें अगर किसान के सभी दस्तावेज सही पाए जाते हैं तो बैंक महज 14 दिन के अंदर कार्ड दे देता है. आपको बता दें कि सरकार द्वारा किसान कार्ड (केसीसी) सैचुरेशन ड्राइव 1 अक्टूबर से शुरू हो गई है और यह पूरे महीने चलेगी।

ऐसे किसान भाई जिनका अभी तक किसान कार्ड नहीं बना है, उनके पास 31 अक्टूबर तक का मौका है, अगर कोई किसान भाई कार्ड बनवाने के लिए 31 अक्टूबर से पहले अपने सभी दस्तावेज जमा कर देता है तो 14 नवंबर तक कार्ड बनाकर उसे दे दिया जाएगा। KCC Scheme




सिर्फ 3 लाख रुपये तक का लोन मिलेगा

आपको बता दें कि KCC Scheme के तहत मिलने वाले लोन पर भी छूट मिलती है, अगर लोन लेने का मकसद पशुपालन और मछली पालन है तो इसके लिए राज्य सरकार से विशेष आग्रह किया गया है.

वैसे तो किसान क्रेडिट कार्ड से ₹300000 तक का लोन आसानी से दिया जा सकता है, लेकिन पशुपालन और मछली पालन के लिए बैंक केवल ₹200000 तक का लोन देता है।

अगर आप किसान क्रेडिट कार्ड बनवाना चाहते हैं तो आपको 31 अक्टूबर से पहले आवेदन करना होगा, अगर आपके द्वारा दिए गए बैंक में सभी दस्तावेज सही पाए जाते हैं तो 14 दिन के अंदर आपका कार्ड भी तैयार हो जाएगा।

अगर दस्तावेज सही पाए जाते हैं तो 14 दिन के अंदर आपका कार्ड भी तैयार हो जाएगा। दस्तावेजों में मुख्य रूप से खेती के कागजात, निवास प्रमाण पत्र, आवेदक का शपथ पत्र, फॉर्म आदि शामिल होंगे। KCC Scheme




किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

  • आपको अपने बैंक की वेबसाइट खोलनी होगी।
  • अब आपको वेबसाइट में ‘किसान क्रेडिट कार्ड’ या ‘केसीसी’ का विकल्प ढूंढना होगा।
  • जैसे ही ‘केसीसी’ का विकल्प उपलब्ध हो, इसे खोलें।
  • अब आपको केसीसी फॉर्म दिखाई देगा, वहां आपको अपनी डिटेल भरकर और जरूरी डॉक्यूमेंट्स अपलोड करके फॉर्म सबमिट करना होगा।
  • यदि आप इसे इस तरह से करने में सक्षम नहीं हैं, तो आपको ऑफ़लाइन विधि का प्रयास करना चाहिए।